687+👉 Best Barish ka Mausam Shayari in Hindi English with images | बारिश का मौसम शायरी

Barish ka Mausam shayari


Barish ka Mausam shayari

शहर देखकर ही अब हवा चला करती है,
अब इंसान की तरह होशियार मौसम होते ह,
मौसम की तरह बदलते हैं उस के वादे,
उस पर यह ज़िद की तुम मुझ पे एतबार करो,

गर्मी के मौसम का भी एक पल आता है,
जिसमे आधे कपड़े और ठंडे पानी का नल भाता है,
कुछ तो तेरे मौसम ही मुझे रास कम आये,
और कुछ तेरी मिटटी में बगावत भी बहुत थी,

अहसान उस का मेरी ज़िंदगी पर था,
कर्ज़ उस का मेरी हर खुशी पर था
बारिशों में गम की छोड़ गई तनहा,
दुःख का साया मेरी हर हँसी पर था,


barish ka mausam ki shayari

तेरी ज़ुल्फों से पाई रौनक घटाओं ने
तेरे चेहरे से पाया नूर फिज़ाओं ने,
दुआ माँगी थी मोहब्बत की बारिशें हो,
तेरे बाद दम तोड़ दिया मेरी दुआओं ने,

हथेली मेरे नाम से सजा ली उस ने,
बात दिल की आँखों में छुपा ली उस ने,
तूफानी बारिशों में थाम कर हाथ मेरा,
फिर ऐसे मोहब्बत की राह निकाली उस,

बारीश के मौसम में मेरे साथ चलने वाली
मेरी यादों में शमा की मानिंद जलने वाली,
ज़ूलफें पहरा देती हैं उस के हुस्न पर,
मेरी मंज़िल हैं, मेरी खातिर लड़की सँवरने वाली,


barish ka mausam romantic shayari

दरखास्त है फूलों से महबूब की,
मुझे खुशबू देकर जाए,
गुजारिश है मेरी उस बारिश से,
यार को मेरे, संग लेकर आए,

हो गया है मानसून का आगाज़,
सब खोल लो अपना छाता,
लेलो मज़ा इस बरसात का,
और खा लो जो आपको भाता,

तलब है कि यूँ ही बरसता रहे बादल,
जो पिघला दे हर किसी का दिल,
मजबूर हो सब घर से निकलने के लिए,
कुदरत का नायाब नूर देखने के लिए,


Barish ka Mausam shayari

तुमको बारिश पसंद है मुझे बारिश में तुम,
तुमको हँसना पसंद है मुझे हस्ती हुए तुम,
तुमको बोलना पसंद है मुझे बोलते हुए तुम,
तुमको सब कुछ पसंद है और मुझे बस तुम,

2 thoughts on “687+👉 Best Barish ka Mausam Shayari in Hindi English with images | बारिश का मौसम शायरी”

Leave a Comment