Chhath Puja shayari

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

 Chhath Puja shayari :- नमस्कार दोस्तों स्वागत है, आपका आज के इस फ्रेश आर्टिकल में आज के इस आर्टिकल में आज हम माता छठ पूजा के भक्तो के लिए लाये है, यह पर्व वर्ष में दो बार मनाया जाता है, पहली बार चैत्र में और दूसरी बार कार्तिक में, चैत्र शुक्ल पक्ष षष्ठी पर मनाये जाने वाले छठ पूजा पर्व को, चैती छठ पूजा पर्व कार्तिक शुक्ल पक्ष षष्ठी पर, मनाये जाने वाले पर्व को, कार्तिकी छठ कहा जाता है, पारिवारिक सुख-समृद्धी तथा, मनोवांछित फल प्राप्ति के लिए यह पर्व मनाया जाता है,

छठ पूजा का मतलब क्या होता है :- खरना के दिनछठ पूजा का विशेष प्रसाद बनाने की परंपरा है,छठ पूजा पर्व बहुत कठिन माना जाता है, और इसे बहुत सावधानी से किया जाता है, कहा जाता है कि जो भी व्रती छठ के नियमों का पालन करती है, उसकी सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं, इस दिन व्रती शुद्ध मन से सूर्य देव और छठ मां की पूजा करके गुड़ की खीर का भोग लगाती हैं

छठ पूजा की शुरुआत कैसे हुआ :- मुग्दल ऋषि ने मां सीता को गंगा छिड़क कर पवित्र किया, एवं कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष षष्ठी तिथि को सूर्यदेव की उपासना करने का आदेश दिया, यहीं रह कर माता सीता ने छह दिनों तक सूर्यदेव भगवान की पूजा की थी,लोकआस्था और सूर्य उपासना का महान पर्व छठ पूजा की आज से शुरुआत हो गई है,

छठ का पूजा कैसे करें :- इस दिन व्रती किसी नदी या तालाब में, स्नान करके छठ पूजा व्रत करने का संकल्प लेते हैं, इसके बाद कद्दू चने की सब्जी, चावल, सरसों का साग खाते हैं, इसके अगले दिन खरना किया जाता है, खरना में व्रती पूरे दिन निराहार रहकर शाम में मिट्टी के चूल्हे पर गुड़ और चावल की खीर, पूरी बनाकर छठ मैय्या को भोग लगाते हैं,


मंदिर की घंटी आरती की थाली,
नदी के किनारे सूरज की लाली,
जिंदगी में आए खुशियों की बहार,
आपको मुबारक हो छठ का त्यौहार,

छठ मैया आशीर्वाद दे इतना,
की सब जगह आपका नाम हो,
दिन दूना रात चौगुना व्यापार हो,
घर और समाज में आप करें राज,
यहीं कामना है हमारी आपके लिए,
छठ की ढेरों शुभकामनाएं,

सदा दूर रहो गम की परछाईयों से,
सामना न हो कभी तन्हाइयों से,
हर अरमान हर ख्वाब पूरा हो आपका,
यही दुआ है दिल की गहराइयों से,
छठ पूजा की हार्दिक शुभकामनाएँ,

कोई दुख न हो, कोई गम न हो,
कोई आँख भी नम न हो,
कोई दिल किसी का तोड़े न,
कोई साथ किसी का छोड़े न,
बस प्यार का दरिया हो,
काश छठ पूजा ऐसा हो,

छठ पूजा आए बनके उजाला,
खुल जाए आप की किस्मत का ताला,
हमेशा आप पर रहे मेहरबान ऊपर वाला,
यहीं दुआ करता है, आपका ये चाहने वाला,

Chhath Puja shayari

आया है भगवान सूर्य का रथ,
आज है मनभावन सुनहरी छठ,
और मिले आपको सुख संपति अपार,
छठ की शुभकामनाएं करें स्वीकार,

सबके दिलों में हो सबके लिए प्यार,
आने वाल हर दिन लायें खुशियाँ हजार,
इस उम्मीद के साथ आओ भूल के सारे गम,
छठ पूजा को हम सब करें वेलकम,

साथ घोड़ो के रथ पर सवार,
भगवान सूर्य आयें आपके द्वार,
किरणों से भरे आपका घर संसार,
छठ पूजा हो आपके लिए समृद्धि का त्यौहार,

पूरे एक साल के बाद,
छठ पूजा का दिन आया है,
सूर्य देव को नमन कर,
हमने इसे धूमधाम से मनाया है,

आया है भगवान सूर्य का रथ,
आज है मन भावन सुनहरी छठ,
और मिले आपको सुख सम्पति अपार,
छठ की शुभकामनाएं करें स्वीकार,

Pages: 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *