Facebook Shayari

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

Facebook Shayari

Facebook shayari
फेसबुक का आज के जमाने में बड़ा ही क्रेज है
युवाओ की जिंदगी पर इसका गजब का स्वैग है..!

संभल कर चल नादान ये इंसानों की बस्ती है
ये तो रब को भी आज़मा लेते है तेरी क्या हस्ती हैं
टूटे मक़ान वाले दिल में ताजमहल रखता हूँ
बात गहरी मगर अल्फ़ाज़ सरल रखता हूँ

धोखा मिला जब प्यार में,
ज़िंदगी में उदासी छा गयी,
सोचा था छोड़ दें इस राह को,
कम्बख़त मोहल्ले में दूसरी आ गयी

shayari fb

जानने की मुझे कोशिश ना कर
सोचने बैठेगा तो खुद को ही भूल जाएगा
फिर कहता फिरेगा कौन हूं मै
गिरते पड़ते दर दर की ठोकरें खाएगा

फेसबुक की दुनिया में तरह तरह के लोग है
करते है फरेब और बनते दिल के दोस्त है..!

facebook shayari

फेसबुक ने ही जमाने को चैटिंग करना सिखाया
अनजान लोगो से दोस्ती करना सिखाया..!

facebook status shayari

अल्फाज को हमेशा आराम से पेश कीजिए जनाब
नही तो जिंदगी में दिल के रिश्ते टूटते नजर आएंगे..!

तेरा मुझको पीछे मुड़ कर देखना अच्छा लगा
तेरे रुख पर मोहब्बत को देखना अच्छा लगा..!

तू जिसे अपना समझता है उसे दूर जाना बाकी है
तू अकेला हो जाएगा वो दिन अभी आना बाकी है..!

facebook post shayari

मोहब्बत उसे भी है पर वो मेरा होने से डरता है
ना जाने क्यो वो मुझे खोने से डरता है..!

बरसो की मोहब्बत को भूलना नामुमकिन था
एक दिन तेरी तस्वीर को सपनो में कैद कर लिया..!

एक उसकी आंखें है एक उसके चेहरे का निखार
उसकी मुस्कान लगती सावन की पहली फुहार है..!

facebook shayari attitude

तुम्हारी याद आना लाजमी है
लेकिन वक्त मेरा इश्क के मुनासिब नही है..!

सच्चा मित्र हृदय की हर सांस पहचान लेता है
वो गहरे अंतर्मन में छिपे आंसुओं को भी तलाश लेता है..!

facebook shayari

जब-जब ख्वाबों में तुम्हे सोचा महक उठते हैं मेरे लफ्ज
दिल के एहसासों में डूबी हुई वो एक नब्ज हो तुम..!

Pages: 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *