Mahakal shayari

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

1 ही 😎शौक रखते है पर बैमिसाल रखते है!!
हालात कैसे भी हो!!
फिर भी जुबां🤔 पर हमेशा जय🙏 महाकाल रखते है!!

बिगड़ा नसीब भी संवर जाता है !!
बंद किस्मत का ताला खुल जाता है!!
अँधेरो🌌 में भी खुला दरवाजा नजर !!
आता है जो सर🙏महादेव के चरणों 👣में झुक जाता है!!

 काल का भी उस पर क्या आघात हो !!
जिस बंदे पर🙏 महाकाल का 🖐️हाथ हो!!

 आँधी तूफान से वो डरते है जिनके मन में प्राण बसते है !!
वो मौत😭 देखकर भी😁 हँसते है जिनके मन मे!!
🙏🙏महाकाल बसते है!!

 जिनके रोम 🙏रोम में शिव है वहीं विष पिया करते हैं!!
जमाना उन्हें क्या जलायेंगा जो श्रृंगार !!
ही अंगार से करते है !!

Mahakal shayari

 Mat कर इतना गरूर अपने Aap पर पता Nahi!! 🙏🙏🙏महाकाल Ne!!
Tere जैसे कितने Bana कर मिटा दिए!!

 करूँ Kyu  फ़िक्र की  😭मौत के!!
Baad जगह कहाँ मिलेगी!!
जहाँ होगी Mere🙏🙏 महादेव की !!
महफिल मेरी रूह Waha मिलेगी!!

जिनके रोम रोम में🙏 शिव है वहीं विष पिया करते हैं!!
जमाना उन्हें क्या जलायेंगा जो !!
😍श्रृंगार ही अंगार से करते है !!

⛰️ मंदिर के बाहर खड़े भक्त से 🙏महाकाल कहते है!!
बेझिझक भीतर आइए पाप👌 करके आप थक गये होंगे !!

 वो अकेले ही पुरी 🌏दुनिया के ☠️मुर्दों के !!
भस्म से नहाते है !!
ऐसे ही नहीं वोकालों के 🔱काल
🙏महाकाल कहलाते है जय🙏🙏 हो महाकाल की!!

Pages: 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *