teachers day quotes hindi

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

teachers day quotes hindi

माता गुरु हैं, पिता भी गुरु हैं !!
विद्यालय के अध्यापक भी गुरु है !!
जिससे भी कुछ सिखा हैं हमने !!
हमारे लिए हर वो शख्स गुरु हैं !!
आपने सिखाया पढ़ना, आपने सिखाई लिखाई !!
गणित भी जाना आपसे, आपने ही भूगोल बतायी !!
बारंबार नमन करता हूँ, स्वीकार करें बधायी !!
शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

गुरूदेव के श्रीचरणों में श्रद्धा सुमन संग वंदन
जिनके कृपा नीर से जीवन हुआ चंदन
धरती कहती, अंबर कहते कहती यही तराना
गुरू आप ही वो पावन नूर हैं जिनसे रौशन हुआ जमाना।

जीवन में जो राह दिखाए सही तरह
चलना सिखाएमाता-पिता से पहले
आता जीवन में सदा आदर पाता
जो मेरा शिक्षक कहलाता

गुरु तेरे उपकार का कैसे चुकाऊं मैं मोल !!
लाख कीमती धन भला गुरु हैं मेरे अनमोल !!
शिक्षक दिवस की हार्दिक बधाई !!

जो बनाये हमें इंसान और दे सही गलत
की पहचान देश के उन निर्माताओं को
हम करते हैं शत शत प्रणाम
हैप्पी टीचर्स डे

नहीं हैं शब्द कैसे करूँ धन्यवाद
बस चाहिए हर पल आप सबका आशीर्वाद,
हूँ जहाँ आज मैं उसमे हैं बड़ा योगदान,
आप सबका, जिन्होंने दिया मुझे इतना ज्ञान

जीवन की हर मुश्किल में समाधान दिखाते हैं
आप नहीं सूझता जब कुछ तब याद आते हैं
आप धन्य हो गया जीवन मेरा बन गए मेरे हैं
गुरु जो आप हैं

गुरु का महत्व कभी होगा ना कम,
भले करले कितनी भी उन्नती हम,
वैसे तो हैं इंटरनेट पे हर प्रकार का ज्ञान,
पर अच्छे बुरे की नहीं है उसे पहचान

ले गए आप इस स्कूल को उस मुकाम पर,
गर्व से उठते हैं हमारे सर, हम रहे ना रहे कल
याद आएंगे आपके साथ बिताये हुए पल,
हमे आपकी जरुरत रहेगी हर पल।।।

अज्ञानता को दूर करके ज्ञान की ज्योत जलाई है,
गुरुवर के चरणों में रहकर हमने शिक्षा पाई है,
गलत राह पर भटके जब हम,
तो गुरुवर ने राह दिखाई है.

वो अध्यापक है जो बच्चे को सोने-सा तपाते,
उस पर पुरजोर मेहनत कर किसी काबिल बनाते
उन्हें बेहद ख़ुशी का एहसास होता है तब
जब बच्चे उनके उनसे आगे बढ़ जाते

जीने की कला सिखाते शिक्षक
ज्ञान की कीमत बताते शिक्षक
किताबों के होने से कुछ नहीं होता,
अगर मेहनत से नहीं पढ़ाते शिक्षक
शिक्षक दिवस की ढेरों शुभकामनाएं

जीवन की हर मुश्किल में
समाधान दिखाते हैं आप
नहीं सूझता जब कुछ
तब याद आते हैं आप
धन्य हो गया जीवन मेरा
बन गए मेरे गुरु जो आप

दिया ज्ञान का भण्डार मुझे
किया भविष्य के लिए तैयार मुझे
जो किया आपने उस उपकार के लिए
नहीं शब्द मेरे पास आभार के लिए

शिक्षक के बिन ये दुनिया क्या
कुछ भी नहीं बस अंधकार यहाँ
शत-शत नमन उन शिक्षकों को
जिनके कारण रोशन सारा जहाँ।

बिना गुरू नहीं होता जीवन साकार
सर पर होता जब गुरू का हाथ
तभी बनता जीवन का सही आकार
गुरू ही है सफल जीवन का आधार।

आदर्शों की मिसाल बनकर,
बाल जीवन संवारता शिक्षक,
सदाबहार फूल सा खिलकर,
महकता और महकाता शिक्षक,
नित नए प्रेरक आयाम लेकर,
हर पल भव्य बनाता शिक्षक,
संचित धन का ज्ञान हमें देकर,
खुशियाँ खूब मनाता शिक्षक।

गुरू ज्ञान दीप की ज्योति से,
मन आलोकित कर देता है,
विद्या का धन देकर,
जीवन सुख से भर देता है,
प्रणाम गुरू को जो
ज्ञान की खुशबू से जीवन भर देता हैं।

आपने सिखाया पढ़ना, आपने सिखाई लिखाई,
गणित भी जाना आपसे, आपने ही भूगोल बतायी
बारंबार नमन करता हूँ, स्वीकार करें बधायी
शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

जो बनाये हमें इंसान,
और दे सही गलत की पहचान
देश के उन निर्माताओं को,
हम करते हैं शत शत प्रणाम
हैप्पी टीचर्स डे

जीवन की हर मुश्किल में
समाधान दिखाते हैं आप
नहीं सूझता जब कुछ
तब याद आते हैं आप
धन्य हो गया जीवन मेरा
बन गए मेरे गुरु जो आप

गुरु का महत्व कभी होगा ना कम,
भले करले कितनी भी उन्नती हम,
वैसे तो हैं इंटरनेट पे हर प्रकार का ज्ञान,
पर अच्छे बुरे की नहीं है उसे पहचा

जीवन के हर अँधेरे में,
रोशनी दिखाते हैं आप,
बंद हो जाते है जब सारे दरवाज़े
नया रास्ता दिखवाते हैं आप,
सिर्फ किताबी ज्ञान ही नहीं
जीवन जीना सिखाते हैं आप

दिया ज्ञान का भण्डार मुझे,
किया भविष्य के लिए तैयार मुझे
जो किया आपने उस उपकार के लिए
नहीं शब्द मेरे पास आभार के लिए

गुरू की ऊर्जा सूर्य-सी, अम्बर-सा विस्तार।
गुरू की गरिमा से बड़ा, नहीं कहीं आकार।
गुरू का सद्सान्निध्य ही, जग में हैं उपहार।
प्रस्तर को क्षण-क्षण गढ़े, मूरत हो तैयार।।
हैप्‍पी टीचर्स डे।

जीवन के हर अँधेरे में,
रोशनी दिखाते हैं आप,
बंद हो जाते है जब सारे दरवाज़े
नया रास्ता दिखवाते हैं आप,
सिर्फ किताबी ज्ञान ही नहीं
जीवन जीना सिखाते हैं आप

दिया ज्ञान का भण्डार मुझे,
किया भविष्य के लिए तैयार मुझे
जो किया आपने उस उपकार के लिए
नहीं शब्द मेरे पास आभार के लिए

गुरू की ऊर्जा सूर्य-सी, अम्बर-सा विस्तार।
गुरू की गरिमा से बड़ा, नहीं कहीं आकार।
गुरू का सद्सान्निध्य ही, जग में हैं उपहार।
प्रस्तर को क्षण-क्षण गढ़े, मूरत हो तैयार।।
हैप्‍पी टीचर्स डे।

गुरु तेरे उपकार का,
कैसे चुकाऊं मैं मोल,
लाख कीमती धन भला,
गुरु हैं मेरे अनमोल
शिक्षक दिवस की हार्दिक बधाई!

गुरूदेव के श्रीचरणों में श्रद्धा सुमन संग वंदन
जिनके कृपा नीर से जीवन हुआ चंदन
धरती कहती, अंबर कहते कहती यही तराना
गुरू आप ही वो पावन नूर हैं जिनसे रौशन हुआ

जीवन में जो राह दिखाए,
सही तरह चलना सिखाए,
माता-पिता से पहले आता,
जीवन में सदा आदर पाता।
जो मेरा शिक्षक कहलाता।

गुरु की उर्जा सूर्य-सी, अम्बर-सा विस्तार,
गुरु की गरिमा से बड़ा, नहीं कहीं आकार।
गुरु का सद्सान्निध्य ही,जग में हैं उपहार,
प्रस्तर को क्षण-क्षण गढ़े, मूरत हो तैयार।

गुरु तेरे उपकार का,
कैसे चुकाऊं मैं मोल,
लाख कीमती धन भला,
गुरु हैं मेरे अन

आपसे ही सीखा, आपसे ही जाना
आप ही को हमने गुरु हैं माना,
सीखा हैं सब कुछ आपसे हमने,
कलम का मतलब आपसे हैं जाना

क्या दूँ गुरु-दक्षिणा,
मन ही मन मैं सोचूं।
चुका न पाऊं ऋण मैं तेरा,
अगर जीवन भी अपना दे

शांति का पढ़ाया पाठ, अज्ञानता का मिटाया अंधकार
गुरु ने सिखाया हमें, नफरत पर विजय हैं प्यार…|||

– गुरू गोविंद दोउ खड़े, काके लागू पाव, बलिहारी गुरू आपने, गोविंद दियो बताय

– गुरू ब्रम्हा, गुरू विष्णु, गुरू देवो महेश्वरा, गुरू साक्षात परम्ब्रम्ह तस्मय श्री गुरूवनमः
हैप्पी टीचर्स ड

बुद्धिमान को बुद्धि देती और अज्ञानी को ज्ञान
शिक्षा से ही बन सकता हैं मेरा देश महान..||

माता गुरु हैं, पिता भी गुरु हैं,
विद्यालय के अध्यापक भी गुरु है
जिससे भी कुछ सिखा हैं हमने,
हमारे लिए हर वो शख्स गुरु हैं

गुरु की उर्जा सूर्य-सी, अम्बर-सा विस्तार,
गुरु की गरिमा से बड़ा, नहीं कहीं आकार।
गुरु का सद्सान्निध्य ही,जग में हैं उपहार,
प्रस्तर को क्षण-क्षण गढ़े, मूरत हो तैयार।

गुरु तेरे उपकार का,
कैसे चुकाऊं मैं मोल,
लाख कीमती धन भला,
गुरु हैं मेरे अनमोल

आपसे ही सीखा, आपसे ही जाना
आप ही को हमने गुरु हैं माना,
सीखा हैं सब कुछ आपसे हमने,
कलम का मतलब आपसे हैं जाना

क्या दूँ गुरु-दक्षिणा,
मन ही मन मैं सोचूं।
चुका न पाऊं ऋण मैं तेरा,
अगर जीवन भी अपना दे दूँ।

शांति का पढ़ाया पाठ, अज्ञानता का मिटाया अंधकार
गुरु ने सिखाया हमें, नफरत पर विजय हैं प्यार…|||

– गुरू गोविंद दोउ खड़े, काके लागू पाव, बलिहारी गुरू आपने, गोविंद दियो बताय

– गुरू ब्रम्हा, गुरू विष्णु, गुरू देवो महेश्वरा, गुरू साक्षात परम्ब्रम्ह तस्मय श्री गुरूवनमः
हैप्पी टीचर्

बुद्धिमान को बुद्धि देती और अज्ञानी को ज्ञान
शिक्षा से ही बन सकता हैं मेरा देश महान..||

आपने सिखाया पढ़ना, आपने सिखाई लिखाई,
गणित भी जाना आपसे, आपने ही भूगोल बतायी
बारंबार नमन करता हूँ, स्वीकार करें बधायी
शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

जो बनाये हमें इंसान,
और दे सही गलत की पहचान
देश के उन निर्माताओं को,
हम करते हैं शत शत प्रणाम
हैप्पी टीचर्स डे

नहीं हैं शब्द कैसे करूँ धन्यवाद
बस चाहिए हर पल आप सबका आशीर्वाद,
हूँ जहाँ आज मैं उसमे हैं बड़ा योगदान,
आप सबका, जिन्होंने दिया मुझे इतना ज्ञान

जीवन की हर मुश्किल में
समाधान दिखाते हैं आप
नहीं सूझता जब कुछ
तब याद आते हैं आप
धन्य हो गया जीवन मेरा
बन गए मेरे गुरु जो आप

गुरु का महत्व कभी होगा ना कम,
भले करले कितनी भी उन्नती हम,
वैसे तो हैं इंटरनेट पे हर प्रकार का ज्ञान,
पर अच्छे बुरे की नहीं है उसे पहचान

जीवन के हर अँधेरे में,
रोशनी दिखाते हैं आप,
बंद हो जाते है जब सारे दरवाज़े
नया रास्ता दिखवाते हैं आप,
सिर्फ किताबी ज्ञान ही नहीं
जीवन जीना सिखाते हैं आप

दिया ज्ञान का भण्डार मुझे,
किया भविष्य के लिए तैयार मुझे
जो किया आपने उस उपकार के लिए
नहीं शब्द मेरे पास आभार के लिए

गुरू की ऊर्जा सूर्य-सी, अम्बर-सा विस्तार।
गुरू की गरिमा से बड़ा, नहीं कहीं आकार।
गुरू का सद्सान्निध्य ही, जग में हैं उपहार।
प्रस्तर को क्षण-क्षण गढ़े, मूरत हो तैयार।।
हैप्‍पी टीचर्स डे।

गुरु तेरे उपकार का,
कैसे चुकाऊं मैं मोल,
लाख कीमती धन भला,
गुरु हैं मेरे अनमोल
शिक्षक दिवस की हार्दिक

गुरूदेव के श्रीचरणों में श्रद्धा सुमन संग वंदन
जिनके कृपा नीर से जीवन हुआ चंदन
धरती कहती, अंबर कहते कहती यही तराना
गुरू आप ही वो पावन नूर हैं जिनसे रौशन हुआ जमाना

जीवन में जो राह दिखाए,
सही तरह चलना सिखाए,
माता-पिता से पहले आता,
जीवन में सदा आदर पाता।
जो मेरा शिक्षक कहलाता।

आपने सिखाया पढ़ना, आपने सिखाई लिखाई,
गणित भी जाना आपसे, आपने ही भूगोल बतायी
बारंबार नमन करता हूँ, स्वीकार करें बधायी
शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

जो बनाये हमें इंसान,
और दे सही गलत की पहचान
देश के उन निर्माताओं को,
हम करते हैं शत शत प्रणाम
हैप्पी टीचर्स डे

गुरु का महत्व कभी होगा ना कम,
भले करले कितनी भी उन्नती हम,
वैसे तो हैं इंटरनेट पे हर प्रकार का ज्ञान,
पर अच्छे बुरे की नहीं है उसे पहचान

जीवन के हर अँधेरे में,
रोशनी दिखाते हैं आप,
बंद हो जाते है जब सारे दरवाज़े
नया रास्ता दिखवाते हैं आप,
सिर्फ किताबी ज्ञान ही नहीं
जीवन जीना सिखाते हैं

दिया ज्ञान का भण्डार मुझे,
किया भविष्य के लिए तैयार मुझे
जो किया आपने उस उपकार के लिए
नहीं शब्द मेरे पास आभार के लिए

गुरू की ऊर्जा सूर्य-सी, अम्बर-सा विस्तार।
गुरू की गरिमा से बड़ा, नहीं कहीं आकार।
गुरू का सद्सान्निध्य ही, जग में हैं उपहार।
प्रस्तर को क्षण-क्षण गढ़े, मूरत हो तैयार।।
हैप्‍पी टीचर्स

गुरु तेरे उपकार का,
कैसे चुकाऊं मैं मोल,
लाख कीमती धन भला,
गुरु हैं मेरे अनमोल
शिक्षक दिवस की हार्दिक बधाई!

गुरूदेव के श्रीचरणों में श्रद्धा सुमन संग वंदन
जिनके कृपा नीर से जीवन हुआ चंदन
धरती कहती, अंबर कहते कहती यही तराना
गुरू आप ही वो पावन नूर हैं जिनसे रौशन हुआ जमाना

खींचता था आड़ी टेड़ी लकीरें,
आपने मुझे कलम चलाना सिखाया।
ज्ञान का दीप जला मन में,
मेरे अज्ञान के तमस को मिटाया।

रौशनी बनकर आये जो हमारी जिंदगी में,
ऐसे गुरुओ को मैं प्रणाम करता हूँ।
जमीन से आसमान तक पहुंचाने का जो रखते हैं हुनर
ऐसे Teachers को मैं दिल से सलाम करता हूँ..।।।।

जब होती कृपा हम पर गुरुदेव की,
होती कृपा तभी हम पर महादेव की।
अब तो आओ गुरूजी मुश्किल आन पड़ी
बिना आपके बीते न जीवन की एक घडी।

देते हैं शिक्षा, शिक्षक हमारे,
नमन चरणों में गुरु तुम्हारे
बिना शिक्षा सूना जीवन है,
शिक्षित जीवन सदा नवजीवन है।

साक्षर हमें बनाते हैं, जीवन क्या है समझाते हैं,
जब गिरते हैं हम हार कर तो साहस वही बढाते हैं,
ऐसे महान व्यक्ति ही तो शिक्षक हैं – जो गुरु कहलाते हैं।

ले गए आप इस स्कूल को उस मुकाम पर,
गर्व से उठते हैं हमारे सर, हम रहे ना रहे कल
याद आएंगे आपके साथ बिताये हुए पल,
हमे आपकी जरुरत रहेगी हर पल।।।

अज्ञानता को दूर करके ज्ञान की ज्योत जलाई है,
गुरुवर के चरणों में रहकर हमने शिक्षा पाई है,
गलत राह पर भटके जब हम,
तो गुरुवर ने राह दिखाई है.

वो अध्यापक है जो बच्चे को सोने-सा तपाते,
उस पर पुरजोर मेहनत कर किसी काबिल बनाते
उन्हें बेहद ख़ुशी का एहसास होता है तब
जब बच्चे उनके उनसे आगे बढ़ जाते

जीने की कला सिखाते शिक्षक
ज्ञान की कीमत बताते शिक्षक
किताबों के होने से कुछ नहीं होता,
अगर मेहनत से नहीं पढ़ाते शिक्षक
शिक्षक दिवस की ढेरों शुभकामनाएं

जीवन की हर मुश्किल में
समाधान दिखाते हैं आप
नहीं सूझता जब कुछ
तब याद आते हैं आप
धन्य हो गया जीवन मेरा
बन गए मेरे गुरु जो आप

दिया ज्ञान का भण्डार मुझे
किया भविष्य के लिए तैयार मुझे
जो किया आपने उस उपकार के लिए
नहीं शब्द मेरे पास आभार के लिए

शिक्षक के बिन ये दुनिया क्या
कुछ भी नहीं बस अंधकार यहाँ
शत-शत नमन उन शिक्षकों को
जिनके कारण रोशन सारा जहाँ।

बिना गुरू नहीं होता जीवन साकार
सर पर होता जब गुरू का हाथ
तभी बनता जीवन का सही आकार
गुरू ही है सफल जीवन का आधार।

आदर्शों की मिसाल बनकर,
बाल जीवन संवारता शिक्षक,
सदाबहार फूल सा खिलकर,
महकता और महकाता शिक्षक,
नित नए प्रेरक आयाम लेकर,
हर पल भव्य बनाता शिक्षक,
संचित धन का ज्ञान हमें देकर,
खुशियाँ खूब मनाता शिक्षक।

गुरू ज्ञान दीप की ज्योति से,
मन आलोकित कर देता है,
विद्या का धन देकर,
जीवन सुख से भर देता है,
प्रणाम गुरू को जो
ज्ञान की खुशबू से जीवन भर देता हैं thi


इसे पढ़े:-

Best funny love Shayari in Hindi for girlfriend

Guru Teg Bahadur Special Shayari in Hindi

Mohabbat Shayari Hindi

Attitude Quotes for girls

Krishna Janmashtami in Hindi

chhath puja Shayari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *